Breaking News
Home /

किसानों के विकास एवं उत्थान में समर्पित इण्डिन चैम्बर ऑफ फार्मर्स के राष्ट्रीय कार्यकारिणी का सम्मेलन श्रीमंत राजमाता विजय राजे सिंधिया कृषि विश्वविद्यालय ग्वालियर, मध्यप्रदेश के सभा कक्ष में हुई। सम्मेलन में इण्डिन चैम्बर ऑफ फार्मर्स (आई.सी.एफ.) के सभी सदस्यों ने सर्वसम्मति से मातृभूमि सेवा मिशन के संस्थापक डॉ. श्रीप्रकाश मिश्र को राष्ट्रीय अध्यक्ष नियुक्त किया। इस अवसर पर एक राष्ट्रीय संगोष्ठी ‘‘किसान है तो कल है, कल है तो जीवन है’’ विषय पर इण्डिन चैम्बर ऑफ फार्मर्स, कॉन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) एवं राजमाता विजय राजे सिंधिया कृषि विश्वविद्यालय के संयुक्त तत्वावधान में सम्पन्न हुई। संगोष्ठी का शुभारंभ के आई.सी.एफ. के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. श्रीप्रकाश मिश्र, राजमाता विजय राजे सिंधिया कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एस.के. राव एवं कैट के प्रदेशाध्यक्ष भूपेन्द्र जैन , आई.सी.एफ. मध्यप्रदेश के संयोजक अशोक शर्मा ने संयुक्त रूप दीपप्रज्ज्वलन कर किया।संगोष्ठी में कृषि विश्वविद्यालय के अनेक विभागाध्यक्ष, शिक्षक समूह, कैट के पदाधिकारी गण एवं इण्डिन चैम्बर ऑफ फार्मर्स के सदस्य, कृषि शोधार्थी एवं अनेक गणमान्य जन उपस्थित रहे।किसानों के विकास एवं उत्थान में समर्पित इण्डिन चैम्बर ऑफ फार्मर्स के राष्ट्रीय कार्यकारिणी का सम्मेलन श्रीमंत राजमाता विजय राजे सिंधिया कृषि विश्वविद्यालय ग्वालियर, मध्यप्रदेश के सभा कक्ष में हुई। सम्मेलन में इण्डिन चैम्बर ऑफ फार्मर्स (आई.सी.एफ.) के सभी सदस्यों ने सर्वसम्मति से मातृभूमि सेवा मिशन के संस्थापक डॉ. श्रीप्रकाश मिश्र को राष्ट्रीय अध्यक्ष नियुक्त किया। इस अवसर पर एक राष्ट्रीय संगोष्ठी ‘‘किसान है तो कल है, कल है तो जीवन है’’ विषय पर इण्डिन चैम्बर ऑफ फार्मर्स, कॉन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) एवं राजमाता विजय राजे सिंधिया कृषि विश्वविद्यालय के संयुक्त तत्वावधान में सम्पन्न हुई। संगोष्ठी का शुभारंभ के आई.सी.एफ. के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. श्रीप्रकाश मिश्र, राजमाता विजय राजे सिंधिया कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एस.के. राव एवं कैट के प्रदेशाध्यक्ष भूपेन्द्र जैन , आई.सी.एफ. मध्यप्रदेश के संयोजक अशोक शर्मा ने संयुक्त रूप दीपप्रज्ज्वलन कर किया।संगोष्ठी में कृषि विश्वविद्यालय के अनेक विभागाध्यक्ष, शिक्षक समूह, कैट के पदाधिकारी गण एवं इण्डिन चैम्बर ऑफ फार्मर्स के सदस्य, कृषि शोधार्थी एवं अनेक गणमान्य जन उपस्थित रहे।