Home / Banner / ग्वालियर एयरपोर्ट पर नए टर्मिनल के लिए श्री सिंधिया ने नागरकि उडयन मंत्री से किया अनुरोध-

ग्वालियर एयरपोर्ट पर नए टर्मिनल के लिए श्री सिंधिया ने नागरकि उडयन मंत्री से किया अनुरोध-


ग्वालियर- पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं राज्यसभा सांसद श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ग्वालियर में बढ़ते हवाई यात्रियों एवं ग्वालियर को देश के अन्य महानगरों से से जोड़ने के लिए जरूरी हवाई सुविधाओं को बढ़ाने के लिए नागरिक उडडयन मंत्री श्री हरदीप सिंह पुरी को पत्र लिखकर अनुरोध किया।
श्री सिंधिया ने अपने पत्र में उल्लेख किया है कि ग्वालियर का वर्तमान सिविल एयरपोर्ट, एयरफोर्स एरिया अंतर्गत उनकी एयर स्ट्रिप का इस्तेमाल करते हुए संचालित है। इसके साथ वर्तमान मं ग्वालियर से दिल्ली, जम्मू, कोलकाता, हैदराबाद, बैंगलोर, अहमदाबाद मे फलाइट्स संचालित है तथा मुम्बई से भी फलाईट अतिशीघ्र चलने की संभावना है। वर्ष 2019-20 में कुल 2842 फलाइटस में 13,2264 यात्रियों के द्वारा यात्रा की गयी थी। बढ़ते एयर ट्रैफक की आवष्यकताआंे को ध्यान में रखते हुए ग्वालियर एयरपोर्ट से लगी हुई आलू अनुसंधान केन्द्र की जमीन भी ली जा सकती है। उल्लेखनीय है कि ग्वालियर एवं उसके आसपास लगभग 150 किमी एरिया के लोगो को बेहतर हवाई यात्रा सुविधाऐं प्रदान करने के लिए एक नया एयरपोर्ट टर्मिनल क्षेत्र की आवष्यकता है। क्षेत्रीय विकास के हित को ध्यान में रखते हुए नये टर्मिनल की योजना को स्वकृति प्रदान करें और संबंधित प्लानिंग टीम को ग्वालियर भेजकर फिजिबिलटी सर्वे का कार्य शीघ्र आरम्भ कराने की कृपा करें।

ग्वालियर रेलवे स्टेशन के ऐतिहासिक विरासत के स्वरूप को सुरक्षित रखते हुए स्टेषन के विकास के लिए रेल मंत्री को श्री सिंधिया ने लिखा पत्र
ग्वालियर- पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं राज्यसभा सांसद श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने रेल मंत्री श्री पियूष गोयल को पत्र लिखकर अनुरोध किया है कि ग्वालियर रेलवे स्टेषन एक हेरीटेज बिल्डिंग है। ग्वालियर में उक्त रेलवे स्टेशन का रिडवलपमेंट करने के उद्देश्य से जो 240 करोड़ की योजना का डिजाइन बनाया गया है, उसके संबंध में मेरा आपसे अनुरोध है कि ग्वालियर के ऐतिहासिक विरासत के विभिन्न पहलुओें को सुरक्षित रखते हुए डिजाइन में आवष्यकतानुसार संसोधन किया जाये, ताकि विरासत एवं आधुनिकता का सम्मिश्रण बना रहे।
इसके अतिरिक्त श्री सिंधिया ने रेल मंत्री श्री गोयल से आग्रह किया कि मेरे प्रयास से पूर्व सरकार ने ग्वालियर से श्योपुर नैरोगेज लाइन के स्थान पर ग्वालियर से श्योपुर से कोटा तक ब्राॅडगेज लाइन बनाने की स्वीकृति प्रदान की थी, जिसका कार्य प्रगति पर है। मेरा आपसे अनुरोध है कि उक्त महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट की तीव्र गति से क्रियान्वन की योजना बनाये क्योकि इस साल के बजट आवंटन में भी आधिक राषि की जरूरत है। जिस नैरोगेज ट्रैन को हम बदल रहे है, वह ग्वालियर में आने वाले पर्यटकों के लिए आकर्षण का केन्द्र रही है। अतः मेरा आपसे अनुरोध है कि नैरोगेज ट्रैन को ग्वालियर नगर में एक हेरिटेज ट्रेन के रूप में चालू रखा जाये। पर्यटन विकास की दृष्टि से उसे और विकसित करके  आईआरसीटीसी या मध्य प्रदेश टूरिज्म डब्लपमेंट कारपोरेशन के संयुक्त उपक्रम के रूप में संचालित किया जा सकता है।

About Unique Today

Check Also

जिला अस्पताल के कोबिड–19 वैक्सीनेशन सेंटर पर लोग हो रहे हैं परेशान

यूनिक टुडे समाचार पत्र मध्यप्रदेश , राजस्थान , छत्तीसगढ़, दिल्ली हरियाणा उत्तरप्रदेश का सबसे तेजी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *