Breaking News
Home / Banner / सिकरोड़ी से एनएच 2 को जोड़ने वाला मार्ग हुआ क्षतिग्रस्त

सिकरोड़ी से एनएच 2 को जोड़ने वाला मार्ग हुआ क्षतिग्रस्त

चकरनगर(इटावा), 29 नवंबर। nh2 से सिकरोड़ी मार्ग पर स्थापित यमुना सेतु दक्षिणीं एप्रोच मैं बुरी तरह लंबी-लंबी दरारें पड़ खाई के रूप में परिवर्तित हो रहीं हैं, लेकिन यह प्रशासन की नजरों से ओझल है। कब कहीं कोई क्या न दुर्घटना हो जाए इसका इंतजार किया जा रहा है।

    ज्ञातब्य हो कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत एनएच 2 से सिकरोड़ी मार्ग जिसकी एप्रोच यानी चढ़ाई गढ़ाकास्दा की तरफ से पुल पर पहुंचने हेतु बनी हुई है, जिसकी साइडें बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गईं है। यह सड़क लगभग 2018 में निर्मित की गई थी जिसका एक सिरा जो nh2 से सिकरोड़ी मार्ग तक है जिसकी लंबाई 8 किलोमीटर लागत करीब 7 सौ लाख के पार होगी इसके सामने जो गढाकास्दा से होकर पुल पर पहुंच मार्ग बना हुआ है यह एप्रोच एक लंबे समय से क्षतिग्रस्त है, और बड़े-बड़े दर्रों के रूप में परिवर्तित होती जा रही है।इसकी देखरेख न तो प्रशासन कर रहा है और ना ही गारंटी योजना 5 वर्ष के तहत ठेकेदार महोदय ही कर रहे हैं। गढ़ाकास्दा से पुल पर चढ़ने के लिए एप्रोच जो पूरब और दक्षिण दिशा की तरफ बनी हुई है वह पानी के कटाव चलते और देखरेख के बिना क्षतिग्रस्त होती जा रही है। ग्रामीणों के अनुसार पहले हल्की चटकन थी लेकिन अब गड्ढों के रूप में परिवर्तित हो रही है। यदि इस एप्रोच पर कोई ध्यान न दिया गया तो सड़क पूर्ण रूप से क्षतिग्रस्त होकर रास्ता अवरुद्ध हो जाएगा जिससे क्षेत्र की जनता को बेहद कष्ट का सामना करना पड़ेगा। इस पुल और सड़क बनवाने के लिए क्षेत्रीय जाने-माने तत्कालीन वरिष्ठ नेता और ब्लॉक प्रमुख चकरनगर रहे कुँ0 जसवंत सिंह सेंगर की आत्मा को भी बेहद स्वर्ग में भी कष्ट आहत करेगा। स्थानीय पत्रकार अरबिंद सिंह राजावत ने बताया कि इस रास्ते से नेता और वरिष्ठ अधिकारी समय-समय पर nh2 पर पहुंचने के लिए गुजरते भी हैं लेकिन लगता है कि अधिकारी यह तो अपने वाहन में सोते हुए जाते हैं नहीं तो गांधारी पट्टी बांधकर चले जाते हैं उन्हें इस सड़क से कोई कोई लेना-देना नहीं होता है।

About Unique Today

Check Also

सुरक्षा घेरे में केंद्रों पर पहुंची वैक्सीन

सुमित त्रिपाठी कानपुर नगर सुरक्षा के बीच कोविशील्ड जिलों में पहुंची, सत्र केंद्रों पर सख्त …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *