Breaking News
Home / देश / सकारात्मक पत्रकारिता का दौर खत्म होने जा रहा है : मुकेश कुमार

सकारात्मक पत्रकारिता का दौर खत्म होने जा रहा है : मुकेश कुमार

ग्वालियर के प्रतिष्ठित संस्थान आईटीएम यूनिवर्सिटी और चर्चा मंडल के तत्वावधान में पाँचवां एडिटर्स कॉन्क्लेव का आयोजन किया गया इस कॉन्क्लेव में देश के प्रख्यात पत्रकारों ने “संकुचित सूचना संसार सिमटता लोकतंत्र” और “बढ़ती मानवीय असंवेदनशीलता का गहराता सामाजिक संकट” विषय पर अपने व्याख्यान प्रस्तुत किए इस चर्चा में पत्रकारों ने अपने अनुभव और संस्मरण उपस्थित छात्रों से साझा किए!

पर्यावरण और विज्ञान में डिबेट क्यों नहीं होती : रमाशंकर सिंह

निर्बल असहाय और हाशिए पर बैठे लोगों को ताकत देना सच्ची पत्रकारिता है आज मीडिया में मुख्य विषय पर्यावरण और विज्ञान पर कोई डिबेट नहीं होती ये बात कही आईटीएम के कुलाधिपति रमाशंकर सिंह ने एडिटर्स कॉन्क्लेव के एक प्रमुख वक्ता और वरिष्ठ संपादक मुकेश कुमार का कहना था कि पत्रकारिता आज काफी दबाव में है कोई भी मीडिया हाउस सरकार की आलोचना करने में संकोच कर रहे हैं जो एक दो मीडिया हाउस सरकार की आलोचना कर रहे हैं या सरकार को आईना दिखा रहे हैं उन्हें मुश्किल का सामना करना पड़ रहा है, वहीं उनका कहना था कि सकारात्मक पत्रकारिता का दौर खत्म होने जा रहा है सोशल मीडिया ने आमजनता में पत्रकारों की जरूरत को कम किया है,
वरिष्ठ पत्रकार राजकुमार केसवानी का कहना था कि अभी नाउम्मीद नहीं हुआ हूँ अभी बहुत कुछ बाकी है और नई पीढ़ी नई ऊर्जा के साथ इस क्षेत्र में बदलाव लगाएगी,लेकिन इसका एकमात्र उपाय अच्छा साहित्य और अच्छी किताबें पढ़ना ही है वहीं दूसरी ओर राजनीतिक मामलों के विशेषज्ञ अभय दुबे ने सरकार पर निशाना साधता हुए उसे थ्री नॉट थ्री की संज्ञा दे डाली उन्होंने कहा कि सरकार बहुमत में है इसका मतलब ये नहीं कि अल्पमत वाले दलों या विपक्ष का अपमान किया जाए असल में लोकतंत्र की खूबसूरती सभी का सम्मान करने में है!

About Unique Today

Check Also

नगर पालिक निगम मुरैना की ओर से इंजीनियर डे पर नगर वासियों को बहुत-बहुत बधाई एवं शुभकामनाएं

Share on: WhatsApp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *