Breaking News
Home / प्रदेश / ग्वालियर कलेक्टोरेट के अ-श्लील कर्मचारियों को 15 अगस्त को मिलेगा ईनाम ।’

ग्वालियर कलेक्टोरेट के अ-श्लील कर्मचारियों को 15 अगस्त को मिलेगा ईनाम ।’


ग्वालियर। बज्जिर-टुडे।

साधारण पुरुष, असाधारण लोगों के नाम पद्मश्री आदि के लिए प्रस्तावित करते हैं। इसी प्रकार शालीन पुरुष, अ-श्लील मानवों का नाम सम्मान के लिए बढ़ाएँ यह सहज ही नहीं, कर्तव्य भी है। adm करकेंटा ने पुरुस्कार-ग्रहीताओं को सूचित कर दिया है।
ग्वालियर कलेक्टोरेट के 19 जमा 10 कर्मचारियों को 15 अगस्त के अवसर पर प्रमाण-पत्र प्रदान किया जाएगा।
इन कर्मचारियों के कार्यालयीन कम्प्यूटरों में उत्तम दर्जे की अ-श्लील सामग्री प्राप्त हुई है। सपना चौधरी आदि के उत्कृष्ट शास्त्रीय नृत्य भी प्राप्त हुए हैं।
कलेक्टर साहब प्रतिवर्ष 15 अगस्त और 26 जनवरी को कलेक्टोरेट के कर्मचारियों को इमरती-जलेबी-लाखन-माखन आदि से सम्मानित करवाते हैं। यह एक अनिवार्य कर्तव्य होता है।
यह सूची जो स्टेनो बनाते हैं वो अपना नाम स्वयं जोड़ते हैं। इसमें कलेक्टर के वाहन-चालक से लेकर कम्प्यूटर ऑपरेटर तक सभी सहज उत्कृष्ट माने जाते हैं।
उक्त कर्मचारियों ने भी उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है। पहली बात तो एनआईसी से लैब तक कम्प्यूटरों में इन्टरनेट नहीं होता था, किन्तु इन्होंने अ-श्लील आवश्यकता के मद्देनजर चालू करवाया। इसके अलावा कई अच्छे एचडी वीडियो प्लेयर सॉफ्टवेयर डलवाये। इस प्रकार इन्होंने कम्प्यूटरों को गुणवत्तायुक्त बनाया।
जिन 10 कर्मचारियों के कार्यालयीन कम्प्यूटरों में सपना चौधरी जी के डांस के वीडियो मिले हैं। उन्हें केन्द्र-राज्य सम्बन्धों को बढ़ाने के लिए सीसीए-सीसीएस-कण्डक्ट रूल 1964, 1965 के तहत सम्मानित किया जाएगा। चूंकि सपना जी बीजेपी की सम्मानित सदस्य हो चुकी हैं और केन्द्र में बीजेपी की सरकार है। अतः उक्त कर्मचारियों को केन्द्र-राज्य सांस्कृतिक सम्बन्ध परिषद् के तरह पुरस्कार प्रदान किया जाएगा।
संभवतः ग्वालियर में जगह कम पड़े तो यह आयोजन भोपाल में भारत भवन में भी किया जा सकता है। 

About Unique Today

Check Also

ऐतिहासिक फैसले से पाक बौखलाया, महबूबा और उमर अब्दुल्ला नजरबन्द, धारा 144 लागू

उत्तराखंड ।। कश्मीर के लिए सोमवार एक ऐतिहासिक दिन साबित हुआ, जब मोदी सरकार ने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *