Breaking News
Home / प्रदेश / मध्य प्रदेश / ” कोई बल्ले से ना मारे निगम अधिकारी को”

” कोई बल्ले से ना मारे निगम अधिकारी को”

‘कोई बल्ले-से ना मारे निगम-अधिकारी को’’
मुरैना। बज्जिर-टुडे। मुरैना नगर-निगम के अफसरों को खिलाड़ी-नेताओं से दूर रहने की एडवाइजरी जारी की गई है। चम्बल डिवीजन क्रिकेट एसोशियन के अध्यक्ष तस्लीम खाँन ने मामले को गंभीरता से लेते हुए अपने लड़कों के अभ्यास का टाइम-टेबल नगर-निगम को भिजवाया है ताकि अधिकारी वक़्त-नज़ाकत देखकर घर से निकलें। इधर नगर-निगम ने भी अपने सभी अतिक्रमण अभियानों को तत्काल प्रभाव से रोक लिया है।
इंदौर भाजपा के किशोर (किस-ओर ?) विधायक ने जिस तरह से अतिक्रमण हटाने गए निगम अधिकारियों पर क्रिकेट के बल्ले से शॉट लगाए हैं उसे देखते हुए यह एहतियाती क़दम उठाया गया है ।
निगम के वरिष्ठ अधिकारियों ने भी सुरक्षा के लिहाज से बेट्समैन की बारीकियाँ और अपने नितम्बों (कूल्हे की मोटाइयों) का जायजा लेना शुरू कर दिया है। हालाँकि मुरैना जिले की किसी भी विधानसभा से भाजपा विधायक नहीं है, फिर भी ऐसे नेताओं की सूची बनाई जा रही है जो नेतागिरी के साथ-साथ क्रिकेट खेलने का दुस्साहस भी कर लेते हैं। विभिन्न राजनीतिक दलों के साथ सद्भावना-मैच रखने पर भी नगर-निगम मुरैना विचार कर रहा है। इसके लिए सर्वदलीय राजनैतिक-क्रिकेटरों की शांति-बैठक ‘मंगल-भवन’ (अमंगलहारी) में बुलाई गई है।
मामले को बारीकी से परखने के लिए ‘बज्जिर-टुडे’ ने अंचल के चम्बल-डिवीजन क्रिकेट एसोशिएसन के अध्यक्ष होने के साथ-साथ काँग्रेस के नेता श्री तस्लीम खाँन से चर्चा की तो उन्होंने बताया कि इस प्रकार की घटना मैदान से बाहर पहली बार हुई है। इसलिए ज्यादा कुछ नहीं किया जा सकता, बस नगर-निगम कार्यालयों के आसपास जो खेलकूद के सामान की दुकानें हैं उन पर कड़ी नजर रखनी चाहिए। इसके अलावा बड़ी गेंद से खेलने वाले नेता तो तक-तक कर कूल्हों पर वार करने की स्थिति में जान पड़ते हैं उन्हें बिना कलेक्टर की अनुमति के बल्ला खरीदने पर रोक लगा देनी चाहिए।
‘बज्जिर-टुडे’ से द्वारा यह पूछे जाने पर कि बंदूक के लाइसेंस की तरह ही राजनेताओं या नेता-पुत्रों को बल्ले के लाइसेंस की प्रक्रिया रखी जानी चाहिए। इस पर श्री खाँन ने कहा कि इस संभावना/आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता।
मुरैना के ख्यातिप्राप्त कमेंटेटर राजेन्द्र सिंह तोमर ‘बाला’ ने इंदौर विधायक आकाश विजयवर्गीय पुत्र श्री कैलाश विजयवर्गीय, निवासी इंदौर की बेटिंग के अंदाज़ जी तारीफ करते हुए ‘बज्जिर-टुडे’ को बताया कि उनका स्ट्रेट-ड्राइव बहुत ही सॉफ्ट तरीके से उठते हुए निगम अधिकारी के कूल्हे तक जाता है और वे लगातार शॉट लगाने में माहिर हैं। निगम अधिकारी का फुट-वर्क खराब है। वीडियो से स्पष्ट है कि उसकी रनिंग और फील्डिंग में कोई दम नहीं है। दूसरी तरफ विधायक साहब का कवर-ड्राइव और लेग-ड्राइव पर भी समान अधिकार है, और उनमें मानव-पिण्ड के साथ क्रिकेट खेलने की अपार संभावनाएँ हैं। – ( जैसा कि उन्होंने ‘माड़साब’ को चर्चा में नहीं बताया)

About Unique Today

Check Also

नगर पालिक निगम मुरैना

Share on: WhatsApp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *