Breaking News
Home / Banner / *शिवपुरी में सेना ने संभाली कमान तो बची जान* ( बंटी धाकड़)

*शिवपुरी में सेना ने संभाली कमान तो बची जान* ( बंटी धाकड़)

 *सेना के साथ एनडीआरएफ ने मिलकर एक सैकड़ा से अधिक लोगों को सुरक्षित निकाल  लिया* 
बुधवार को जिले में बारिश और बाढ दोनों से राहत मिली। सुबह से रुक-रुक का बारिश होती रही, लेकिन पिछले दो दिनों की तरह आसमान से आफत बनकर नहीं बरसी। इसके चलते सेना ठीक से रेस्क्यू भी कर पाई। सिंध के उफान पर आने के बाद करैरा-नरवर बेल्ट में परेशानी बढ़ गयी है। मंगलवार से यहां सैकड़ों लोग फंसे हुए थे जिन्हें बचाने के लिए बबीना से सेना की बाढ़ नियंत्रण टुकड़ी मंगवार रात ही पहुंच गई। इसके पहले आरटीसी कैंपस करैरा के आइटीबीपी जवान रेस्क्यू में जुट गए। बुधवार सुबह युद्धस्तर पर रेस्क्यू शुरू हुआ और सेना के साथ एनडीआरएफ ने मिलकर एक सैकड़ा से अधिक लोगों को सुरक्षित निकाल लिया। इस दौरान किस तरह की जनहानि की बात भी सामने नहीं आई। दोपहर में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का हवाई दौरा किया। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश किये कि अब जनहानि जैसी स्थिति नहीं है, लेकिन राहत सामग्री का वितरण युद्धस्तर पर किया जाना चाहिए। इसके अतिरिक्त बैराड़ के तीन गांव में फंसे हुए 50 से अधिक परिवारों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। जिले का गवालियर से फिर से संपर्क स्थापित हो गया है। मोहना पर पुल उखड़ने के बाद मोहना सिटी से होकर पुराने पुल से आवागमन शुरू कर दिया गया है। वहीं श्योपुर और शिवपुरी की बीच कुनो पुल टूट गया है जिससे दोनों जिलों के बीच आवागमन बंद हो गया है।
Shivpuri news.मड़ीखेड़ा में दरार की अफवाह, गांव में मची खलबली
पहर में इंटरनेट मीडिया पर यह अफवाह फैल गई कि मड़ीखेड़ा डेम की दीवार में दरार आ गई है। इसके बाद नरवर से जुड़े कई ग्रामीण क्षेत्रों में हड़कंप मच गया। इसके बाद प्रशासन ने स्थिति स्पष्ट की। मड़ीखेड़ा का वाटर लेवल 343 मीटर आ गया है जबकि इसकी क्षमता 346 मीटर है। इसके अभी 10 गेट 5 मीटर खोले गए हैं। नरवर के पास मड़ीखेड़ा पुल जरूर क्षतिग्रस्त हुआ है।
Shivpuri news.मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया हवाई दौरा
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को हवाई दौरा कर ग्वालियर एवं चंबल संभाग में बाढ़ से प्रभावित हुए चार दर्जन से अधिक गांवों का जायजा लिया। उन्होंने दोपहर करीब 1.30 बजे सिलपरी, हर्रई, बड़खड़ी, नरवर, मगरौनी, बैराड़, ज्वालापुर, मेवाड़ा, बहरावदा, ठेवला, गाजीगढ़, ककरूआ, धोबिनी, देवपुर, अहिल्यापुर, बरोद, बरखेड़ा, नरैया खेड़ी, सिलपुरा, बुधोनी, बघोदा, हुसैनपुर, जौराई, आनंदपुर, जरियाकलां, बामनपुर, मादीखेड़ा, गोरा, मोहारा, कोलारस, पनवाड़ी, देहरदा, डागोर इत्यादि ग्राम का निरीक्षण किया। इसके पहले मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कलेक्टर से भी स्थिति का जायजा लिया और निर्देश दिए कि किसी भी व्यक्ति को भोजन या पानी की समस्या नहीं आना चाहिए। आप युद्धस्तर पर इसकी व्यवस्था करें।
 शिवपुरी में बारिश का कहर, बैराड़ के चार गांव हुए जलमग्न, हेलीकॉप्टर से रेसक्यू आपरेशन
कॉलोनियों से नहीं निकल पाया पानी
संजय कॉलोनी, शंकर कॉलोनी, मनियर बस्ती, गायत्री नगर, नबाव साहब रोड, सौनचिरैया क्षेत्र में अभी भी घरों में कई फीट पानी भरा हुआ है। बुधवार को भी रुक-रुक कर बारिश होती रही और उनके घरों से पानी नहीं निकल पाया। इसके कारण लोग परेशान होते रहे। शहर की बिजली व्यवस्था को लेकर मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने भी अधिकारियों की बैठक ली, लेकिन अधिकांश जगह बिजली की सप्लाई नहीं हो सकी क्योंकि कई क्षेत्रों में पानी भरा है और ट्रांसफार्मर भी डूबे हैं। बिजली विभाग के ही सब स्टेशन इस समय पानी में डूबे हुए हैं।
 *मोहना सिटी के अंदर से शुरू किया मार्ग, श्योपुर से संपर्क टूटा* 
मोहना पर पार्वती के ऊफान पर आने के बाद नेशनल हाइवे की सड़क पूरी बिखर गई। इससे शिवपुरी का ग्वालियर से संपर्क टूट गया। इसके बाद मोहना सिटी के अंदर से पुराने पुल से ट्रैफिक को शुरू किया गया। ट्रैफिक शुरू होने तक खूबत घाटी पर भी बड़ा जाम लग गया। हालांकि अब ग्वालियर से फिर से आवागमन शुरू हो सका है। वहीं श्योपुर और शिवपुरी के बीच कूनो का पुल टूट जाने से संपर्क टूट गया है। पचावली पुल भी सिंध की वजह से क्षतिग्रस्त हो गया है और सिंध यहां पुल के साथ बह रही है।



About admin

Check Also

अन्नत चतुर्दशी और सम्वत्सरी के दिन सार्वजनिक अवकाश घोषित कर सरकारी स्तर पर मनाए जाने की मांग l

मुख्य सचिव के द्वारे पहुंचे राजस्थान समग्र जैन युवा परिषद् के प्रतिनिधि जयपुर l राजस्थान …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *